Saans lyrics| Kevy Chahal |Giri G | Bhupesh Kalal 2021

Saans Lyrics English & Hindi|”साँस” the song created by Kevy Chahal. In this song, he has told the struggle and pain of life.

Saans lyrics| Kevy Chahal
Saans lyrics| Kevy Chahal
Singer & LyricistKevy Chahal
MusicGiri. G
CastKevy Chahal
Production HouseSee Saw Entertainment & Kevy Chahal
ProduceSee Saw Entertainment & Kevy Chahal
DirectorBhupesh Kalal & Ankit Mailk (Margin’n)
Saans lyrics| Kevy Chahal |Giri G | Bhupesh Kalal
Saans lyrics| Kevy Chahal |Giri G | Bhupesh Kala

Saans lyrics in English

SAANS LENE ME TAKLIFE KYU HO RAHI HAI

NA JANE MERI KISMAT KAB SE SO RAHI HAI

AUR KITNA KARU SABAR MAI..

JEET KI NA KOI KHABAR HAI..

SAANS LENE ME TAKLIFE KYU HO RAHI HAI

NA JANE YE MERI KISMAT KAB SE SO RAHI HAI

AUR KITNA KARU SABAR MAI..

JEET KI NA KOI KHABAR HAI..

JEETA THA MAI KHULKE AB KAIDI SA HO RAHA HUN

KHULLE DARWAJO PE MAI KHADA MAAN PINJARO ME SO RAHA HU

KISMAT KO TAANE DEKE KAHEKO RO RHA HU

COMPETITION KI DUNIYA ME HAR ROZ FLOP HO RAHA HU

ISI KA NAAM JINA HAI, JINE ME HAMARI KHWAHISE JAADA HO RAHI HAI

SAANS LENE ME TAKLIF KAHE KO HO RAHI HAI

YEAH. TAKLIF KAHE KO HO RAHI HAI

HAA TAKLIF KAHE KO HO RAHI HAI

TAKLIF KAHE KO HO RAHI HAI

TAKLIF KAHE KO HO RAHI HAI

SAANS LENE ME TAKLIF KYUN HO RAHI HAI

NA JANE YE MERI KISMAT KAB SE SO RAHI HAI

AUR KITNA KARU SABAR MAI..

JEET KI NA KOI KHABAR HAI..

SAANS LENE ME TAKLIF KYUN HO RAHI HAI

NA JANE YE MERI KISMAT KAB SE SO RAHI HAI

AUR KITNA KARU SABAR MAI..

JEET KI NA KOI KHABAR HAI..

NAAM SADASI SI BHID ME, KHUD KA NAAM KHO RAHA

AMRITSAR KA LADKA THA MUMBIKAR SA HO RAHA

NAAM BANANE AAYA THA, BENAAM SA HO RHA

PAIDAL CHALATE-CHALATE GALIYON SE DOSTI HO RAHI HAI

YAHA LOG ROAD PE SOTE HAI

AUR KUTTO KI GADIYON ME SEWA HO RAHI HAI

SEWA HO RAHI HAI..

HO RAHI HAI (2x)

SAANS LENE ME TAKLIF KAHE KO HO RAHI HAI

HO RAHI HAI (2x)

SAANS LENE ME TAKLIF KYUN KO HO RAHI HAI

NA JANE YE MERI KISMAT KAB SE SO RAHI HAI

AUR KITNA KARU SABAR MAI..

JEET KI NA KOI KHABAR HAI..

SAANS LENE ME TAKLIF KYUN KO HO RAHI HAI

NA JANE YE MERI KISMAT KAB SE SO RAHI HAI

AUR KITNA KARU SABAR MAI..

JEET KI NA KOI KHABAR HAI..

KHULKE RONA JAISE SAPNA SA HO RAHA HAI

PALKON KE PICHHE AANSUO KA SANUNDAR SO RAHA HAI

KUCHH HO RAHA HAI

AB BECHAIN DIL KO, KAHANA BHI CHAHU PR KAISE BADLU FITRAT KO

CHAAR DIWARI SE JYADA, TIME BITAYA HAI SADAKO PE

INSANO KE VICHAR DEKHO, NA JAO UNAKE KAPDON PE

FACE OFF KE LAFADO PE

BIN BOLE KUCHH DUKH, DARD SAH CHUP CHUP RO RAHI HAI NA

RO RAHI HAI NA

SAB KHILATI HAI HAME, FIR BHI KHUD BHUKHI SO RAHI HAI MAA

SO RAHI HAI MAA

SAANS LENE ME TAKLIF KYUN KO HO RAHI HAI

NA JANE YE MERI KISMAT KAB SE SO RAHI HAI

AUR KITNA KARU SABAR MAI..

JEET KI NA KOI KHABAR HAI..

Saans lyrics| Kevy Chahal |Giri G | Bhupesh Kalal

saans-lyrics
saans-lyrics

साँस lyrics| Kevy Chahal in Hindi

साँस लेने में तकलीफे क्यूँ हो रही है

न जाने ये मेरी किस्मत कब से सो रही है

और कितना करूँ सबर मैं

जीत की न कोई खबर है

साँस लेने में तकलीफे क्यूँ हो रही है

न जाने ये मेरी किस्मत कब से सो रही है

और कितना करूँ सबर मैं

जीत की न कोई खबर है

जीता था मैं खुलके अब कैदी सा हो रहा हूँ

खुल्ले दरवाजों पे मैं खड़ा मान पिंजरों में सो रहा हूँ

किस्मत को ताने देके काहेको रो रहा हूँ

कम्पटीशन हर रोज फ्लॉप हो रहा हूँ

इसी का नाम जीना है, जीने में हमारी ख्वाहिशें ज्यादा हो रही है

सांस लेने में तकलीफ काहे को हो रही है

येह तकलीफ काहे को हो रही है

हाँ तकलीफ काहे को हो रही है

तकलीफ काहे को हो रही है

तकलीफ काहे को हो रही है

साँस लेने में तकलीफे क्यूँ हो रही है

न जाने ये मेरी किस्मत कब से सो रही है

और कितना करूँ सबर मैं

जीत की न कोई खबर है

साँस लेने में तकलीफे क्यूँ हो रही है

न जाने ये मेरी किस्मत कब से सो रही है

और कितना करूँ सबर मैं

जीत की न कोई खबर है

नाम सादसी भीड़ में, खुद का नाम खो रहा

अमृतसर का लड़का अब मुंबईकर सा हो रहा

नाम बनाने आया था, बेनाम सा हो रहा

पैदल चलते-चलते गलियों से दोस्ती हो रहा है

यहाँ लोग रोड पे सोते हैं और कुत्तों की गड़ियों में सेवा हो रहा है

सेवा हो रहा है

हो रहा है (2x)

साँस लेने में तकलीफ काहे को रहा है

हो रहा है (2x)

साँस लेने में तकलीफे क्यूँ हो रही है

न जाने ये मेरी किस्मत कब से सो रही है

और कितना करूँ सबर मैं

जीत की न कोई खबर है

साँस लेने में तकलीफे क्यूँ हो रही है

न जाने ये मेरी किस्मत कब से सो रही है

और कितना करूँ सबर मैं

जीत की न कोई खबर है

खुलके रोना जैसे जैसे सपना सा हो रहा है

पलकों के पीछे आंसू का समुन्दर सो रहा है

कुछ हो रहा है

अब बेचैन दिल को, कहना भी चाहु पर कैसे बदलूँ फितरत को

चार दीवारी से ज्यादा, टाइम बिताया है सडकों पे

इंसानों के विचार देखो, न जाओ उनके कपड़ों पे

फेस ऑफ के लफड़ों पे

बिन बोले कुछ दुःख,दर्द चुप-चुप रो रही है न

रो रही है न

सब खिलाती है हमें,फिर भी खुद भूखी सो रही है न

सो रही है न

साँस लेने में तकलीफे क्यूँ हो रही है

न जाने ये मेरी किस्मत कब से सो रही है

और कितना करूँ सबर मैं

जीत की न कोई खबर है

1 thought on “Saans lyrics| Kevy Chahal |Giri G | Bhupesh Kalal 2021”

Leave a Comment