mor kan kan me tai base cg jasgeet lyrics

mor kan kan me tai base cg jasgeet lyrics :- दुकालू यादव जसगीत।

मोर कण कण मे  तैं बसें ओ दाई शीतला लिरिक्स इन हिन्दी 

mor kan kan me tai base cg jasgeet lyrics
mor kan kan me tai base cg jasgeet lyrics

साथीगण

जय हो जय हो जय हो शीतला मैय्या जय हो.. 

जय हो जय हो जय हो शीतला मैय्या जय हो .. 

जय हो जय हो जय हो शीतला मैय्या जय हो.. 

जय हो जय हो जय हो शीतला मैय्या जय हो.. 

स्वयं 

 मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

तोर डेहरी में  गावत रैथो तोर जस गीत ला…  

तोर डेहरी में  गावत रैथो तोर जस गीत ला…

साथी   

मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

तोर डेहरी में  गावत रहीथो तोर जस गीत ला…  

तोर डेहरी में  गावत रहीथो तोर जस गीत ला..

स्वयं 

 पावत रैथो माता तोर आशीष ला ओ………. 

पावत रैथो माता तोर आशीष ला, आशीष ला 

साथी 

मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

तोर डेहरी में  गावत रहीथो तोर जस गीत ला…  

तोर डेहरी में  गावत रहीथो तोर जस गीत ला… 

 संगीत ……..

संगीत ……..

साथी 

 जय हो जय हो जय हो शीतला मैय्या जय हो.. 

जय हो जय हो जय हो शीतला मैय्या जय हो…. 

स्वयं 

 भेद तोर कोनो नई जाने, सबो तोला माने ओ…. 

भेद तोर कोनो नई जाने, सबो तोला माने ओ….

करनी ले तोर जगजननी, सब हे अनजाने ओ … 

साथी 

करनी ले तोर जगजननी, सब अनजाने ओ …
स्वयं 
 शास्तर भीतर मा तोरे, नाम  अउ निशाने ओ…
 शास्तर भीतर मा तोरे, नाम  अउ निशाने ओ…
अंग अंग म तही बिराजे, तभो नई पहिचाने ओ..
साथी 
अंग अंग म तही बिराजे,तभो नई पहिचाने ओ..
स्वयं 
 बरसाए माता मया पीरीत ला ओ…….. 
बरसाए माता मया पीरीत ला, पीरित ला 
 
साथी 

मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

मोर कण-कण में तैं बसे ओ दाई शीतला.. 

तोर गेंहरी में  गावत रैथो तोर जस गीत ला…  

तोर गेंहरी में  गावत रैथो तोर जस गीत ला…  

****************************

mor kan kan me tai base cg jasgeet lyrics

Mor kan kan me tai base o dai shitla lyrics in English 

 Jai ho jai ho jay ho shitla maiyya jai ho..

Jai ho jai ho jay ho shitla maiyya jai ho..

(Jai ho jai ho jay ho shitla maiyya jai ho..

Jai ho jai ho jay ho shitla maiyya jai ho..)

Mor kan kan me tai base o dai shitla……. 

Mor kan kan me tai base o dai shitla…. 

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….. 

(Mor kan kan me tai base o dai shitla……. 

Mor kan kan me tai base o dai shitla…. 

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….. )

 

Pawat raitho mata tor aashish la, o…….

Pawat raitho mata tor aashish la, aashish la

Mor kan kan me tai base o dai shitla……. 

Mor kan kan me tai base o dai shitla…. 

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….. 

Jai ho jai ho jay ho shitla maiyya jai ho..

Jai ho jai ho jay ho shitla maiyya jai ho..

Bhed tor kono ni jane, sabo tola mane o……

Bhed tor kono ni jane, sabo tola mane o…

Karni le tor jagjanni, sab he anjani o……

(Karni le tor jagjanni, sab he anjani o……)

Shastar bhitar ma tore, nam au nishane o….. 

 Shastar bhitar ma tore, nam au nishane o….. 

Ang ang ma tahi biraje, tabho ni lahichane o…. 
(Ang ang ma tahi biraje, tabho ni lahichane o…. )
 
Barsaye mata maya pirit la,  o….. 
 
Barasaye mata maya pirit la, pirit la…… 
 
Mor kan kan me tai base o dai shitla……. 

Mor kan kan me tai base o dai shitla…. 

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….

Tor dehri me gawat raitho tor jas git la….. 

mor kan kan me tai base cg jasgeet lyrics

 
+++++++++++++++++++++++++

 यूट्यूब मे पब्लिश     –    4 अप्रैल 2017 

सिंगर                      – भजन सम्राट दुकालू यादव 

 
 कुछ शब्दों का हिंदी अनुवाद :- 
शास्तर   –    शास्त्र
डेहरी     –     आंगन
तोरे       –    तुम्हारे, आप 
mor kan kan me tai base cg jasgeet lyrics
सारांश  :-  
                 जस गीत सम्राट भाई दुकालू यादव द्वारा यह रचित भजन मां दुर्गा,  मां शक्ति को समर्पित है. दुकालू यादव जी अपने भजन के माध्यम से माता से कहते हैं की हे मा शक्ति हम आपके उपासक हैं आप हमारे इस मिट्टी स्वरूप शरीर में कण-कण में आप ही हो मां, मैं आपका निशदिन आपके ध्यान में लगा रहता हूं. 
 
मां मैं आपके सेवा करके आपका आशीष पता रहता हूं. 
 आप ही दुर्गा हो,  आप ही चंडी हो,  आपका भेद कोई नहीं जान सकता आपको सभी अपने इष्ट मानते हैं, अब जो भी करते हैं उसे कोई नहीं जान सकता मां, शास्त्रों में आपका ही नाम है, आप ही की निशानी है. माता आप सभी भक्तों पर अपनी कृपा बरसाते रहना मां आप सभी को सुख शांति और वैभव से भरपूर करना मां, आप मेरे कण-कण में हो मां. मैं आपका अज्ञानी पुत्र.

Leave a Comment