माटी के दुर्गा तोला बैठारेव cg jasgeet

Mati ke durga tola baitharew :- यह जस गीत छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध गायक, भजन सम्राट दुकालू यादव जी ने अपने मनमोहक आवाज से सजाया है, मां अंबे भवानी याद में नवरात्र पर्व के अवसर पर जब मां दुर्गा की मूर्ति की स्थापना होती है उस बेला को याद करते हुए दुकालू यादव जी ने मां भवानी के अथाह प्रेम का वर्णन किया है।

Mati ke durga tola baitharew cg jasgeet

माटी के दुर्गा तोला बैठारेव लिरिक्स हिंदी में

 संगीत……. 
माटी के दुर्गा तोला बैठारेव,  माटी के दुर्गा तोला बैठारेव। 
नव दिन अउ नव रतिया। मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 
मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 
संगीत……. 
माटी के दुर्गा तोला बैठारेव,  माटी के दुर्गा तोला बैठारेव। 
नव दिन अउ नव रतिया। मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 
मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 

सगीत……. माटी माटी म गढ़ के माता,   कुम्हार ह तोला बनाये। 
कुम्हार ह तोला बनाये मईया कुम्हार ह तोला बनाये। 
नव रतन के गहना बनाके, सोनार ह तोला सजाये। 
सोनार ह तोला सजाये मईया, सोनार ह तोला सजाये। 

कोस्टा भईया लुगरा पहिरके, कोस्टा भईया लुगरा पहिरके। पहिराए हे ओढ़निया…..। 
मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 

मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 

संगीत…. 
हे.. जगदम्बा मूर्ति ला तोर, बघवा ऊपर बैठाथे वो 
बघवा ऊपर बैठाथे वो मईया बघवा ऊपर बैठाथे वो..। 
जस ला गाये सेउक भगत मन, गौरी तोला परघाथे वो..। 
गौरी तोला परघाथे वो मईया गौरी तोला परघाथे वो.। 

बावहन, देवता करें आरती, बावहन, देवता करें आरती,। श्रद्धा अउ पिरितिया… 
मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 

मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 

संगीत…… 
गौ माता के गोबर मे सुग्घर, अंगना दुवार  लिपाये वो..। 
अंगना दुवार  लिपाये वो मईया, अंगना दुवार  लिपाये वो। 
गौमूत सानके चारो खुट मे,  चुक चुक  चौक पुराये वो..। 
चुक चुक चौक पुराये वो मईया चुप चुप चौक पुराये वो..। 

चन्दन काठ के बढ़ई भईया, मढ़ाये हे पीढ़निया….. 
मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 

मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया।
मईया तोर लगाव पइया, मईया तोर लगाव पइया। 

Mati ke durga tola baitharew cg jasgeet

Mati ke durga tola baitharew cg jasgeet lyrics in English

Mati ke durga tola baitharew. 
Mati ke durga tola baitharew. 

Nav din au nav ratiya…. 
Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 

Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 
Music…… 
Mati ke durga tola baitharew. 
Mati ke durga tola baitharew. 

Nav din au nav ratiya…. 
Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 
Music……. 
Mati mati m gad ke mata,  kumhar h tola banaye 
kumhar h tola banaye maiya , kumhar h tola banaye. 

Nav ratan ke gahna banake, sonar h tola sajaye. sonar h tola sajaye maiya  sonar h tola sajaye. 

Kosta baaiya lugra pahirake. 
Kosta baaiya lugra pahirake. 

Odhaye he odahaniya………. 
Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 

Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 

Music….. 
He… jagdamba murti la tor, baghwa uper baithathe wo.. baghwa uper baithathe wo.. maiya baghwa uper baithathe wo.. 

Jas la gaye seuk bhagat man, gauri tola parghathe wo. 
gauri tola parghathe wo.. maiya gauri tola parghathe wo… 

Bawhan, dewta kare aarti,. Bawhan, dewta kare aarti, 
Shradha au piritiya…….. 
Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 

Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 

Music….. 
Gau mata ke gober m sughgher, angna duwar lipaye  wo.. 
angna duwar lipaye  wo.. maiya angna duwar lipaye  wo.. 

Gaumut san ke charo khut me, chuk chuk chauk puraye wo. 
chuk chuk chauk puraye wo. Maiya chuk chuk chauk puraye wo. 

Chandan kath ke badhI bhaiya,. Chandan kath ke badhI bhaiya, 

Madhaye he pidhaniya…….. 
Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 

Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 
Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 

Maiya tor lagaw paiya, Maiya tor lagaw paiya, 


       छत्तीसगढ़ी बोली के हिंदी अर्थमाटी – मिट्टी,  रतिया – रात,  पइया लगाव – प्रणाम करना,  मइया – माता,  लुगरा – साडी,  बघवा – शेर 
सारांश :- यह जस गीत मां अंबे भवानी जी की आराधना स्तुति और सेवा गीत के रूप में प्रसिद्ध है इसमें माता जी के मूर्ति, तथा शृंगारिक वर्णन किया गया है, माता किस प्रकार और किस में बैठती है, गहना,  साड़ी, और उनके संपूर्ण श्रृंगार के बारे में इस गीत के माध्यम से बताया गया है वैसे तो मां भवानी सभी भक्तों के लिए समान होती है सभी भक्तों पर अपनी कृपा बरसाती हैं। 

Leave a Comment